एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर क्या है। Application Software in Hindi

कंप्यूटर सॉफ्टवेयर क्या होता है ? यह कितने प्रकार का होता है ? कंप्यूटर में इसके क्या कार्य एवं उपयोग हैं ? यहाँ हम इन सभी चीज़ों पर एक छोटी सी दृष्टि डालते हुए मुख्य रूप से सॉफ्टवेयर के एक प्रकार - एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर [ Application Software ] को समझने का प्रयास करेंगे। हम जानेंगे कि एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर क्या है ? इसके प्रकार, साथ ही हम यह भी जानेंगे कि कंप्यूटर में इसके क्या कार्य एवं उपयोग हैं। - [ What is Application Software, Types of Application Software and its Functions and Utilities in Hindi ]

एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर। इसके प्रकार। कार्य। कंप्यूटर में इसके उपयोग।

एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर को समझने से पहले हमारे लिए यह जरुरी है कि हम पहले सॉफ्टवेयर को समझें।
सॉफ्टवेयर क्या है ? - हमारा कंप्यूटर मुख्या रूप से दो तरह की चीज़ों से बना होता है। एक तो ऐसी चीज़ जिसे हम देख सकते हैं, छू सकते हैं और यह समझ सकते हैं कि यह सामग्री किस मेटल से बना है। ऐसी चीज़ जिसे हम देख व् छू सकते हैं, कंप्यूटर की भाषा में हम इसके लिए जो शब्दावली प्रयोग करते हैं, उसका नाम है - हार्डवेयर। 



एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर क्या है


अब एक दूसरी चीज़ भी हमारे कंप्यूटर में होती है, जिसे न तो हम देख पाते हैं और न ही उसे छू सकते हैं। लेकिन कंप्यूटर में इसका बड़ा ही महत्वपूर्ण रोल होता है। बगैर इसके कंप्यूटर महज एक धातु से बना खिलौना बन कर रह जाएगा। जिस तरह हवा के बिना हम जीवित नहीं रह सकते, उसी प्रकार इसके बिना हम कंप्यूटर पर कोई भी कार्य नहीं कर सकते। अब तो आप समझ ही गए होंगे कि यहाँ किसकी बात की जा रही है। यहाँ कंप्यूटर सॉफ्टवेयर की बात की जा रही है। इस प्रकार यदि हम कंप्यूटर हार्डवेयर को 'इंजन' की संज्ञा दें, तो कंप्यूटर सॉफ्टवेयर को उसका 'ईंधन' कहना गलत नहीं होगा। बगैर ईंधन के इंजन कभी चल सकता है क्या ?



सॉफ्टवेयर एक विशेष प्रकार के प्रोग्राम होते हैं, जो कंप्यूटर सिस्टम को कैसे कार्य करना है - इसका निर्देश देते हैं। कंप्यूटर सॉफ्टवेयर कंप्यूटर के कार्यों को नियंत्रित भी करते हैं और आपके कंप्यूटर में लगे विभिन्न उपकरणों [हार्डवेयर] के बीच सामंजस्य स्थापित करते हुए उसे यह बताते हैं कि इन उपकरणों को क्या कार्य करना है, कब करना है। इस प्रकार आप कंप्यूटर पर किसी विशेष कार्य को करने में सफल हो पाते हैं।

सॉफ्टवेयर की परिभाषा - यदि सॉफ्टवेयर की परिभाषा देने की बात हो तो हम हम कह सकते हैं कि "सॉफ्टवेयर निर्देशों एवं नियमों से सम्बंधित एक प्रोग्राम होता है, जो कंप्यूटर हार्डवेयर से अपेक्षित कार्य करवाने के लिए हार्डवेयर को निर्देशित करता है कि उसे कौन से कार्य करने हैं, कैसे करने हैं एवं कब करने हैं।"

सामान्यतः जब हम 'प्रोग्राम', 'सॉफ्टवेयर' एवं 'एप्लीकेशन' - इन टर्म्स का प्रयोग करते हैं, तो इससे एक ही चीज़ इंगित होता है अर्थात यह सभी टर्म्स कंप्यूटर की भाषा में एक ही अर्थों में प्रयोग किये जाते हैं। 

कंप्यूटर सॉफ्टवेयर के प्रकार। टाइप्स ऑफ़ सॉफ्टवेयर। 

जब हम कंप्यूटर सॉफ्टवेयर के प्रकार  [Types] की बात कर रहे हैं तो हमारे लिए यह जानना जरुरी है कि सॉफ्टवेयर तीन प्रकार के होते हैं :-
  • सिस्टम सॉफ्टवेयर [System Software]
  • एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर [Application Software]
  • यूटिलिटी सॉफ्टवेयर [Utility Software]
अब हम अपने मुख्य विषय पर आते हैं और एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर को थोड़ा समझने का प्रयास करते हैं। 

एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर  [Application Software ] 

कोई भी सॉफ्टवेयर किसी विशेष तरह के प्रयोजन और विशेष प्रकार के कार्य को पूरा करने के लिए Develop किये जाते हैं। मान लीजिये किसी संस्था, किसी व्यक्ति या किसी कंपनी को किसी विशेष तरह के कार्य करने हैं, तो उसकी इस जरुरत को पूरा करने के लिए एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर की जरुरत पड़ेगी।

एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर सिस्टम सॉफ्टवेयर एवं कंप्यूटर प्रयोगकर्ता के बीच एक सामंजस्य स्थापित करता है। यहाँ यह उल्लेखनीय है किसी भी एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर को किसी विशेष ऑपरेटिंग सिस्टम [जैसे, विंडोज, एंड्राइड Iphone] के हिसाब से बनाया जाता है और यह उसी ऑपरेटिंग सिस्टम के बैकग्राउंड के अनुसार काम कर पाएगा। इसीलिए विंडोज और एंड्राइड ऑपरेटिंग सिस्टम पर कार्य करने के लिए अलग -अलग एप्लीकेशन प्रोग्राम का प्रयोग किया जाता है। 

Read More :-
मेनफ़्रेम कंप्यूटर क्या होता है - उदाहरण के साथ
ईमेल क्या होता है - पूरी जानकारी
GMAIL पर ईमेल आईडी कैसे बनाये
कंप्यूटर से सम्बंधित ऑब्जेक्टिव क्वेश्चन
ऑपरेटिंग सिस्टम क्या होता है ?
बिट, बाइट, निबल, केबी, एमबी, जीबी क्या होता है ?
Computer Science Abbreviations and Acronyms
कम्पाइलर, असेम्बलर, ट्रांसलेटर और इंटरप्रेटर
कंप्यूटर सामान्य ज्ञान - GK हिंदी में
सॉफ्टवेयर क्या है ? सिस्टम सॉफ्टवेयर एवं यूटिलिटी सॉफ्टवेयर की जानकारी


एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर के प्रकार। टाइप ऑफ़ एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर। 

एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर को हम इसके उपयोग के आधार पर दो भागों में बाँट कर समझ सकते हैं। 

जनरल एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर [ General Purpose Application Software ] - यद्यपि यह सॉफ्टवेयर भी विशेष प्रयोजन से ही बनाये जाते हैं, तथापि इसका प्रयोग कर अनेक उपयोगकर्ता इससे लाभ उठा सकते हैं। जनरल एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर के उदाहरण हैं :-
  • माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस 
    वेब ब्राउज़र
    मीडिया प्लेयर 
    वर्ड प्रोसेसिग सॉफ्टवेयर - Word Processing Software के द्वारा हम आसानी से टेक्स्ट डाक्यूमेंट्स बना सकते हैं, उसे edit कर सकते हैं, उसके फॉर्मेट को चेंज कर सकते हैं। यह सॉफ्टवेयर हमें gramatical errors, spelling mistake आदि को check करने एवं इस डाक्यूमेंट्स को प्रिंट करने की सुविधा प्रदान करता है। यह सॉफ्टवेयर हमें हमारे डाक्यूमेंट्स को digitally एक स्थान से दूसरे स्थान पर share करने की सुविधा भी देता है। इस कंप्यूटर सॉफ्टवेयर को हम टाइपराइटर के विकल्प के रूप में प्रयोग कर।  जैसे माइक्रोसॉफ्ट वर्ड, गूगल डाक्यूमेंट्स इसी प्रकार का सॉफ्टवेयर है।

    स्प्रेडशीट [Spreadsheet]- इसका मुख्यतः statistical कार्यों के लिए प्रयोग किया जाता है। इसमें आप डाटा को Row एवं Column में व्यवस्थित कर सकते हैं। यह सॉफ्टवेयर आपको Graph व् Chart के द्वारा डाटा को व्यवस्थित करने और प्रदर्शित करने की सुविधा प्रदान करता है। डाटा एंट्री करने वालों के लिए यह सॉफ्टवेयर बहुत मददगार है।

    प्रेजेंटेशन सॉफ्टवेयर [Presentetion Software]- किसी सामूहिक अवसर पर जैसे, किसी Confrence में आपको डाटा को present करने की सुविधा देता है।

    एकाउंटिंग पैकेज सॉफ्टवेयर - एकाउंटिंग से सम्बंधित कार्य जैसे Transaction, व्यापारिक हिसाब-किताब, जर्नल एंट्री आदि के लिए प्रयोग किया जाता है। Tally जो की एक बहुत ही पॉपुलर सॉफ्टवेयर है, यह भारत में ही बनाया गया एकाउंटिंग पैकेज सॉफ्टवेयर का उदाहरण है।

    डेस्कटॉप पब्लिशिंग [DTP] - पब्लिशिंग यानि प्रकाशन सम्बन्धी कार्यों के लिए प्रयोग किया जाता है। इसके कुछ उदाहरण हैं :- Ventura, Microsoft Publisher, Pagemaker एवं Corel Draw आदि।

    कंप्यूटर एडिड डिज़ाइन सॉफ्टवेयर - कंप्यूटर पर इस सॉफ्टवेयर की सहायता से इंजीनियरिंग और विज्ञानं सम्बन्धी डिज़ाइन बनाया जाता है।
     
विशेष प्रयोजन एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर [ Customized Application Software]- ऐसे सॉफ्टवेयर का प्रयोग विशेष जरुरत के लिए किया जाता है। इस प्रकार सामान्य उपयोग के लिए इस सॉफ्टवेयर का प्रयोग नहीं होता। उदाहरण के लिए - रेलवे रिजर्वेशन, वायुयान ट्रैकिंग एंड कंट्रोलिंग कार्य के लिए तैयार किया गया सॉफ्टवेयर आदि। इस प्रकार के सॉफ्टवेयर के लिए विशेष प्रकार के कंप्यूटर की आवश्यकता भी होती है। उदाहरण के लिए, रेलवे रिजर्वेशन के लिए मेनफ़्रेम कंप्यूटर ।

तो इस प्रकार आज हमनें यह जाना कि कंप्यूटर सॉफ्टवेयर - Applicaton Software क्या है, यह कितने प्रकार का होता है और Computer में इसके क्या कार्य एवं उपयोग हैं ।

कोई टिप्पणी नहीं

Blogger द्वारा संचालित.