Email Kya Hai - ईमेल की पूरी सम्पूर्ण जानकारी हिंदी में

आज हमलोग यहाँ ईमेल क्या है [What is Email in Hindi], ईमेल एड्रेस [ आईडी - पता  ] क्या है, ईमेल का पासवर्ड क्या है, ईमेल के जन्मदाता अथवा आविष्कारक कौन हैं, ईमेल की उपयोगिता एवं विशेषता, ईमेल का हिंदी अर्थ, ईमेल के लाभ और हानि, गूगल पर अकाउंट यानि जीमेल / ईमेल आईडी कैसे बनाते हैं, आदि चीज़ों के साथ-साथ यह भी जानेंगे कि ईमेल कैसे लिखा और भेजा जाता है। इसके साथ ही हम ईमेल से सम्बंधित कुछ और जानकारी लेंगे मसलन, ईमेल में Cc और BCc क्या होता है, इसके फुल-फॉर्म क्या होते हैं वगैरह। 

# Email kya hai / Email kya hota hai
# Email address / ID / pata kya hai
#Email ka matlab
# Gmail id kya hai
#Google account aur Gmail id kaise banaye

Email Kya Hai - ईमेल क्या है ? What is Email in Hindi 

Email - ईमेल का फुल- फॉर्म होता है - Electronic Mail. आजकल ईमेल का काफी चलन है। ईमेल Internet की सहायता से अपेक्षाकृत काफी काम खर्च में लेकिन काफी त्वरित गति से मैसेज भेजने का एक बहुत ही लोकप्रिय साधन है। हालांकि Internet के इस ज़माने में त्वरित एवं तीव्र गति से यानि Instant Messaging के और भी लोकप्रिय साधन उपलब्ध हैं, जैसे - Facebook Messenger, Whatsapp Messenger आदि; लेकिन ईमेल का  पुराना इतिहास है और आज भी यह लोगों के बीच अपनी लोकप्रियता बनाये रखा है। यहाँ मैं आपको बता दूँ कि ईमेल के जन्मदाता अथवा आविष्कारक एक अमेरिकी वैज्ञानिक हैं जिनका नाम रे टॉमलिंसन है। 


Email Kya Hai



Email प्राचीन काल में प्रचलित चिट्ठी-पुर्जी और डाक-व्यवस्था पत्राचार आदि की तरह ही है। इनमे अंतर यह है कि प्राचीन ज़माने में जहाँ पत्र-व्यवहार में तीव्रता का अभाव था, वहीँ ईमेल के द्वारा यह काफी आसानी के साथ काफी त्वरित गति से संभव है। 

ईमेल की सुविधा पाने के लिए प्रत्येक यूजर का एक यूनिक यूजरनाम होता है जिसे Email ID कहते हैं। यह ईमेल आईडी हमें Email Service Provider प्रदान करता है। इसे प्राप्त करने के लिए हमें इन ईमेल  प्रोवाइडर के पास अपना एक अकाउंट खोलना होता है। आप यदि गूगल पर यानि Gmail अपना ईमेल आईडी बनाना चाहते हैं, तो आप इस पोस्ट को रीड करें और गूगल जीमेल पर अपना एक ईमेल आईडी बना लें। जीमेल पर अपना बनाने का सबसे बड़ा फायदा यह  कि  यहाँ फ्री में 15 जीबी का स्टोरेज मिल जाता है। इसके साथ ही यदि आप अपना एक गूगल अकाउंट बना लेते है तो  गूगल के अन्य बहुत साड़ी सुविधओं का लाभ ले सकते हैं। गूगल अकाउंट यानि जीमेल पर अपनी आईडी बनाना - दोनों एक ही चीज़ है। गूगल अकाउंट क्रिएट कर आप youtube पर अपना चैनल बना सकते हैं और वहां Video Upload और Download कर सकते हैं, ब्लॉगर भी गूगल की ही एक फ्री सर्विस है जिसके इस्तेमाल से आप अपना एक खुद का  सकते हैं और अपने विचारों को दुनिया के साथ साझा कर सकते हैं। इसके अतिरिक्त आप अपने जीमेल अकाउंट से गूगल ड्राइव, गूगल docs, गूगल sites, गूगल photos आदि सेवाओं का उपयोग कर सकते हैं। ये पोस्ट पढ़ें :- गूगल अकाउंट / जीमेल id कैसे बनाएं

ईमेल की उपयोगिता। विशेषता। 

EMAIL की प्रमुख विशेषताएं निम्नवत हैं :-
  • आप एक ही बार में ईमेल मैसेज एक से अधिक व्यक्तियों को भेज सकते हैं। 
  • ईमेल के जरिये आप टेक्स्ट, ऑडियो, वीडियो और इमेज भेज सकते हैं। आपको बस ये ऑडियो या वीडियो फाइल मैसेज में Attach करना होता है। इसे Attachment कहा जाता है। 
  • ईमेल सर्विस प्रोवाइडर द्वारा आपको मुफ्त में कुछ स्पेस यानि जगह उपलब्ध कराया जाता है ताकि आपका डाटा वहां स्टोर रह सके और आपको अपने डाटा को रखने के लिए जगह की कमी न हो। 
  • जब आप किसी व्यक्ति अथवा किसी संस्था को ईमेल भेजते हैं, तो इसकी एक प्रति आपके पास सुरक्षित रहती है। 
  • आप भेजे गए सन्देश में जब चाहें शंसोधन कर सकते हैं, इसे Save या Delete कर सकते हैं। आप इस भेजे गए सन्देश को पुनः किसी और को भेज सकते हैं, Forward  सकते हैं। 
  • ईमेल के जरिये आप Instant Messaging कर सकते हैं। 
  • ईमेल प्रयोगकर्ताओं के लिए मैसेज रिसीव कर पढ़ने के लिए उनका तत्काल ऑनलाइन होना आवश्यक नहीं होता। वो बाद में भी अपनी आईडी में लॉगिन कर मैसेज को पढ़ सकते हैं और उसका रिप्लाई कर सकते हैं। 
ईमेल द्वारा Message भेजने के लिए प्रयोग किया जाने वाला प्रोटोकॉल 
Internet का प्रयोग कर ईमेल सन्देश Receive करने के लिए Post Office Protocol का प्रयोग किया जाता है जबकि Email भेजने के लिए Simple Male Transfer Protocol का प्रयोग किया जाता है। 

ईमेल के लाभ और हानि 
ईमेल के निम्नलिखित लाभ हैं :-
ऊपर बताई गयी विशेषता को भी इसके लाभ के रूप में देखा जा सकता है। 
  • Messaging का यह एक बहुत ही सस्ता माध्यम है। 
  • इसकी गति तीव्र होती है। साथ ही यह हमें ऑडियो, वीडियो, टेक्स्ट और इमेज को भी भेजने की सुविधा देता है। 
ईमेल की कुछ हानियां भी हैं जो निम्नवत हैं :-


  • ईमेल के जरिये Unwanted Advertisment भी भेज दिए जाते हैं जिससे ईमेल यूजर को परेशानी हो जाती है। जो विज्ञापन वो नहीं देखना चाहता वो ही मेलबॉक्स में दिखाई पड़ता है। 
  • ईमेल में Attachment के जरिये वायरस फैला दिया जाता है। इससे प्रयोगकर्ता की सूचना के साथ गड़बड़ी भी हो सकती है। 
  • ईमेल सन्देश की सबसे बड़ी समस्या होती है Spam की। Spam Bulk में यानि थोक में आये हुए Unwanted Messages होते हैं। 
Email Address और Paasword क्या होता है ?
जब आप ईमेल सर्विस प्रोवाइडर के पास अपना अकाउंट खोलते हैं तो आपको अपने अकाउंट के लिए एक यूनिक नाम चुनना होता है जिसे हम Username या Email ID कहते हैं। इसके साथ ही आपको अपने ईमेल खाते के लिए एक पासवर्ड भी देना होता है। इन्ही दोनों की सहायता से आप अपने जीमेल आईडी में लॉगिन होते हैं और कहीं से किसी के द्वारा भेजे गए मैसेज को पढ़ते हैं या आप किसी को सन्देश भेजते। इसके लिए यह आवश्यक है कि आप अपना यूजरनाम तो किसी को बताएं ताकि वह आपके इस यूजरनाम यानि आपके ईमेल पते पर सन्देश भेज सके। इसके साथ ही आपके लिए यह भी आवश्यक है कि आप किसी को अपना पासवर्ड कभी न बताएं। जिस प्रकार यदि किसी व्यक्ति को आपका ATM Card और उस कार्ड का Secret पिन - यह दोनों मिल जाये तो वह व्यक्ति आपके बैंक अकाउंट से पैसा निकाल सकता है, उसी प्रकार यदि किसी व्यक्ति को आपके ईमेल पते के साथ-साथ इसका पासवर्ड भी पता चल जाये तो वह व्यक्ति आपके ईमेल आईडी के साथ छेड़-छाड़ कर सकता है। 


ईमेल सर्विस प्रोवाइडर 
यहाँ अपने देश में google, yahoo, rediffmail, hotmail आदि ईमेल अकाउंट खोलने की सुविधा प्रदान करते हैं।

ईमेल कैसे भेजा / लिखा जाता है। How to Send Email in Hindi.

ईमेल भेजने एवं प्राप्त करने के लिए स्टेप्स :-
ईमेल सन्देश पढ़ने के लिए अथवा किसी को Email सन्देश भेजने के लिए सबसे पहले आपको अपने ईमेल अकाउंट में sign in करना होता है। अपने Email अकाउंट में Sign In या Login कैसे करें और ईमेल चेक कैसे करें ?
  • अपने ईमेल अकाउंट में Sign in या Login करने के लिए आप अपने मोबाइल के या कंप्यूटर के वेब ब्राउज़र में Yahoo / Gmail /Hotmail आदि टाइप करें [ जिस किसी पर आपका अकाउंट हो ] और सर्च करें। 
  • आपने जिस पर अपना ईमेल अकाउंट क्रिएट किया है, वो लिख कर सर्च करें। अब आपके सामने उसका एक Sign up और Sign in वाला ऑप्शन दिखाई देगा, उस पर क्लिक करें। अब आपके सामने sign in या लॉगिन (Log in) करने का विकल्प होगा, उस पर क्लिक करें।
  •  अब आप यूजरनाम वाले खाने में अपना यूजरनाम दें और  वाले खाने में अपना पासवर्ड टाइप करें। इसके बाद आप Sign in पर क्लिक करें। 
  • Sign in करने के साथ ही आप अपने ईमेल अकाउंट पर पहुँच जाएंगे। 
यहाँ आपको ढेर-सारे विकल्प दिखाई देंगे। आप किसी के द्वारा आपको भेजे गए मैसेज को Primary टैब पर क्लिक कर देख सकते है। यदि आपने कोई ईमेल किसी को बाद में भेजने के लिए Save कर रखी है तो इसे आप Draft Folder में चेक कर सकते हैं। 

इसी तरह यदि आपके ईमेल पते पर कोई Spam सन्देश है तो इसे आप Spam folder में चेक कर सकते हैं। यदि अप्पने किसी व्यक्ति को कोई ईमेल सन्देश भेजा है, तो इसे आप Sent वाले फोल्डर में देख सकते हैं।
ईमेल में एड्रेस बुक [Address Book] क्या है ?
एड्रेस बुक वह स्थान होता है जहाँ ईमेल एड्रेस [Email आईडी] को स्टोर कर लिया जाता है। आप जब भी किसी के ईमेल  पते पर मैसेज हैं, तो वह पता इस एड्रेस बुक में सेव हो जाता है। इसके बाद जब कभी भी आप उसी ईमेल पते पर कोई मैसेज भेजना चाहेंगे, तो आपको ईमेल पता टाइप करने की जरुरत नहीं पड़ेगी। यहाँ स्टोर किये गए ईमेल एड्रेस को आप यहाँ से सेलेक्ट कर To, Cc या BCc वाली जगह पर रख सकते हैं। 

ईमेल में Cc क्या होता है ? Cc का फुल-फॉर्म क्या होता है ?

ईमेल में Cc का मतलब होता है - Carbon Copy. मान लीजिये आप किसी कंपनी में जॉब कर रहे हैं और आपसे यह कहा जाता है कि एक ही ईमेल आप चार या पांच व्यक्तियों को भेज दें। इसके साथ ही आपसे यह भी कहा जाता है कि आप जो ईमेल भेज रहे हैं वो सभी को पता चलना चाहिए की यह ईमेल उनके ईमेल पते के अतरिक्त और किस-किस ईमेल पते पर भेजा गया है। तो ऐसे में आप उन सभी ईमेल पते को कार्बन कॉपी बॉक्स में रख दें और ईमेल Send कर दें। कार्बन कॉपी में रखे जाने से इमेल प्राप्त करने वाला यह जान सकता है कि यह ईमेल और किस-किस पते पर भेजा गया है। 

Read More -
कंप्यूटर ऑब्जेक्टिव क्वेश्चन फॉर कॉम्पिटिटिव एग्जाम
ऑपरेटिंग सिस्टम क्या होता है - जानें
कंप्यूटर मेमोरी की माप कैसे करते हैं - बिट, बाइट, निबल
कंप्यूटर साइंस से सम्बंधित शब्द-संक्षेप
ट्रांसलेटर, कम्पाइलर, असेम्बलर और इंटरप्रेटर की पूरी जानकारी
कंप्यूटर सम्बंधित सामान्य ज्ञान प्रश्नोत्तरी
डोमेन नाम सिस्टम की पूरी जानकारी
सॉफ्टवेयर एवं इसके प्रकार की जानकारी

ईमेल में BCc क्या होता है ? BCc का फुल-फॉर्म क्या होता है ?
ईमेल में BCc का मतलब होता है - Blind Carbon Copy. यह Cc के विपरीत होता है। जिस प्रकार कार्बन कॉपी में रखे जाने से ईमेल प्राप्त करने वाला व्यक्ति यह जान पाता है कि यह ईमेल और किस-किस ईमेल पते पर भेजा गया है, उसी प्रकार ब्लाइंड कार्बन कॉपी में रखे जाने से ईमेल प्राप्तकर्ता यह नहीं जान पता है कि यह ईमेल उसके अतिरिक्त और किस-किस को भेजा गया है। यदि आपसे यह कहा जाये की एक ही ईमेल आपको पांच पते पर एक साथ भेजना है और पाँचों में से कोई भी यह न जान पाए कि यह ईमेल उसके अतिरिक्त और किस-किस को भेजा गया है तो ऐसे में आप उन पाँचों ईमेल एड्रेस को BCc बॉक्स में दे दें और ईमेल भेजें। 

ईमेल में Mailing List [मेलिंग लिस्ट] क्या होता है ?
मेलिंग लिस्ट ईमेल की वह विशेषता है जिसके द्वारा कोई ईमेल एक साथ कई लोगों को भेज सकते हैं। इस मेलिंग लिस्ट में ईमेल प्राप्त करने वालों का ईमेल पता रहता है। जब आप कोई ईमेल mailing list में भेजेंगे तो ईमेल सर्वर के द्वारा उस मेलिंग लिस्ट में जितने भी ईमेल आईडी होते हैं, उन सभी को यह मैसेज स्वतः ही भेज दिया जाता है। 

ईमेल में Attachment क्या होता है और इसका प्रयोग कैसे करते हैं ?
मान लीजिये आप जिसमाइल पते पर कोई टेक्स्ट मैसेज भेज रहे हैं और उसके साथ आप कोई PDF फाइल या कोई इमेज या ऑडियो भी भेजना चाहते हैं, तो यहाँ आपको अटैचमेंट [Attachment] की जरुरत पड़ेगी। आप ईमेल विंडो में पेपर-क्लिप वाले आइकॉन पर क्लिक करें और इस क्लिक के साथ ही आपके सामने attachment वाला Dialogue Box Open हो जाएगा। अब आप अपने डिवाइस से [मोबाइल या कंप्यूटर] वह फाइल सेलेक्ट कर लें जोआप इस मैसेज के साथ Attach करना चाहते हैं। 

ईमेल में Signature का प्रयोग कैसे करें ?
यदि आप किसी को ईमेल कर रहे हैं और चाहते हैं कि आपके ईमेल सन्देश के अंत में आपका Signature हो तो आप ऐसा कर सकते हैं। आप चाहें तो सिग्नेचर में अपना नाम, अपने कंपनी का नाम या वेबसाइट का नाम अदि लिख सकते हैं। इसके लिए आप पेन वाले आइकॉन पर क्लिक करें और अपना सिग्नेचर add करें। आप बार-बार Signature लिखने से बचने के लिए अपने ईमेल की सेटिंग में जा कर अपना सिग्नेचर टाइप करें और इसे Save कर लें। इस प्रकार यह सिग्नेचर आपके ईमेल मसाज को और आकर्षक बना सकता है। 

ईमेल में Priority यानि प्राथमिकता क्या होती है ?
आप अपने ईमेल सन्देश को तीन तरह के Priority Level में रख सकते हैं। ये हैं :- High, Low एवं Normal Priority. इसमें से आप अपने सन्देश को किसी एक में रख सकते हैं। हाई प्रायोरिटी वाले ईमेल सन्देश के टेक्स्ट का कलर लाल होता है। By Default किसी ईमेल सन्देश की प्रायोरिटी नार्मल होती है। इसका मतलब ये हुआ कि यदि आप manually अपने हिसाब से प्रायोरिटी लेवल सेट नहीं करते हैं, तो यह नार्मल प्रायोरिटी वाला मैसेज होगा।

ईमेल में Reply क्या होता है एवं रिप्लाई कैसे करते हैं ?
यदि आप कोई ईमेल मैसेज प्राप्त करते हैं तो आपको उस मैसेज का Reply करने यानि जवाब देने का विकल्प होता है। आप बाईं तरफ घूमी हुई तीर के चिह्न पर क्लिक कर इसका रिप्लाई दे सकते हैं। जब आप किसी मैसेज का रैली करते हैं तो Subject वाले बॉक्स में 'Re' स्वतः ही जुड़ जाता है, जिससे ईमेल प्राप्त करने वाला यह समझ जाएगा कि उसके द्वारा भेजे गए ईमेल का Reply आया है। 

ईमेल में Forward क्या होता है ?
जब आप प्राप्त किये गए या भेजे गए ईमेल को किसी और व्यक्ति के ईमेल पते पर भेजते हैं तो इसे फॉरवर्ड कहते हैं। ऐसा करने पर By Default सन्देश के साथ 'FW' जुड़ जाता है जो यह इंगित करता है कि इस मैसेज को Forward किया गया है। 

ईमेल का फॉर्मेट 
ईमेल का फॉर्मेट निम्नलिखित तरह का होता है:-
  • From - ये ईमेल भेजने वाले का ईमेल एड्रेस होता है। 
  • To - जिसको ईमेल भेजा जाता है, उसका ईमेल एड्रेस।
  • Cc - Carbon Copy जिसको भेजा जाता है, उसका ईमेल एड्रेस। 
  • BCc - Blind Carbon Copy जिसको भेजना है, उसका ईमेल पता। 
  • Subject - ईमेल मैसेज का विषय, जिससे वो सम्बंधित है। 
  • Body - इसमें टेक्स्ट लिखा जाता है और अटैचमेंट आदि जोड़ा जाता है।  

ईमेल कैसे भेजें /करें/लिखें  [ How to Type and Send Email in Hindi]

यदि आप किसी को ईमेल भेजना चाहते हैं,तो नीचे लिखे स्टेप को फॉलो करें :-

ईमेल का फ़ॉर्मेट




  • सबसे पहले आप अपने ईमेल अकाउंट में लॉगिन हो जाएँ। 
  • लॉगिन होने के बाद आप Compose पर क्लिक करें। 
  • Compose पर क्लिक करने के बाद आप 'To' वाली जगह पर उस व्यक्ति या संस्था का ईमेल एड्रेस टाइप करें, जिसे आप ईमेल भेजना चाहते हैं। 
  • अब 'Subject' वाली जगह पर आपका ईमेल जिस विषय में है, वो टाइप कर दें। 
  • अब आप यदि Cc और BCc वाली जगह में किसी का ईमेल एड्रेस देना चाहते हैं, तो दे दें। Cc और BCc क्या होता है, इसे ऊपर बताया गया है। आप इसे खली भी छोड़ सकते हैं। 
  • अब आप जो टेक्स्ट लिखना चाहते हैं, उसे टेक्स्ट वाले बॉक्स में टाइप कर दें। 
  • यदि आप कोई अटैचमेंट जोड़ना चाहते हैं, तो उसे जोड़ दें। अटैचमेंट कैसे जोड़ते हैं, ऊपर बताया गया है। 
  • यदि आप अपना सिग्नेचर करना चाहते हैं, तो सिग्नेचर कर दें अन्यथा नहीं भी जोड़ सकते हैं। 
  • ये सब करने के बाद आप नीचे 'Send' पर क्लिक करें। 
आपके ईमेल मैसेज भेजते ही आपको "Email Sent" का एक मैसेज दिखाई देगा। मतलब आपका ईमेल successfully sent हो चुका है। आप इसे अपने "Sent Mail" वाले ऑप्शन में जा कर देख सकते हैं। 

यदि आपका ईमेल किसी कारणवश भेजे जाने से वंचित रह जाता है, तो इसे आप अपने 'Drafts' वाले फोल्डर में जा कर देख सकते हैं और इसे दुबारा वहीँ से भेज सकते हैं। इस प्रकार आपको दुबारा मैसेज टाइप करने की आवश्यकता नहीं होती।
तो आज हमने ईमेल [ What is Email in Hindi ] से सम्बंधित बहुत सारी जानकारी प्राप्त करने का प्रयास किया। यदि आपको ईमेल [Email] क्या है और गूगल पर ईमेल आईडी कैसे बनाये [ Google Par email / gmail ID Kaise Banaye / How to Create Google Account or Gmail ID In Hindi ] - से सम्बंधित कोई प्रश्न हो, तो हमसे कमेंट में पूछें। पोस्ट को अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर शेयर करना न भूलें ताकि और लोगों तक यह जानकारी सरलता से पहुँच सके और वो भी इससे लाभान्वित हो सकें। 

कोई टिप्पणी नहीं

Blogger द्वारा संचालित.